कृषि के साथ-साथ पशुपालन भी अपनाएं: सिंह

Dairy farming is a profitable business

भितरवार ब्लॉक के हरसी जल संसाधन परिसर में रविवार को एक दिवसीय कृषि प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। इसमें मुख्य अतिथि कृषि वैज्ञानिक डॉ. राज सिंह कुशवाह थे। उन्होंने ग्रामीणों को बताया कि वह खेती के साथ-साथ पशुपालन को भी अपनाएं, जिससे उनकी आय बढ़ सके।

श्री कुशवाह ने किसानों को बताया कि आज का दौर जैविक खेती का है। लोग जैविक खेती से लाखों रुपए कमा रहे हैं। जैविक खेती से कम पानी में फसलों का अच्छा उत्पादन होता है। खेती को लाभ का धंधा बनाने के लिए शासन द्वारा कई योजनाएं चलाई जा रही हैं, जिनका हमें लाभ लेना चाहिए। आज कई किसान ऐसे हैं, जो खेती के साथ-साथ पशुपाल का धंधा भी कर रहे हैं। पशु पालन के लिए शासन द्वारा योजनाएं चलाई जा रही है।इन योजनाओं का लाभ उठाएं। उन्होंने बताया कि कुक्कुट पालन, पशुपालन ऐसे धंधे है, जिन्हें लोग अपना रहे हैं। इस अवसर पर जगदीश सिंह, देवेन्द्र सिंह, जंडेल सिंह, हरवंश सिंह आदि लोग मौजूद थे।

dairy farming